दादी मां की कहानियां हिंदी में Best 2 Dadi Ma Ki Kahaniyan In Hindi

0

Dadi Ma Ki Kahaniya – Best दादी की कहानी

आज हम आप सबके लिये Best Dadi Ma Ki Kahaniya लेकर आये हैं तो चलिये हम Dadi Ma Ki Kahani शुरू करते हैं।

Dadi Ma Ki Kahaniya
Dadi Ma Ki Kahaniya

एक गांव में श्याम नाम का किसान था। उसके पास दो घडे़ं थे। जिनसे वो रोज अपने घर के लिये पानी लेकर आता था। लेकिन उसमें से एक घडा फूटा हुआ था , नदी से पानी लाने पऱ एक घडा भरा हुआ रहता था व दूसरा भरा हुआ रहता था। फूटा घडा़ बहुत शर्मिंदा रहता था कि वो आधा पानी ही घर पहुंचा पाता है।

वहीं दूसरे घडे़ं को इस बात का बहुत घमंड था कि वो पूरा पानी घर पहुंचाता है। इसलिये वो घडा़ फूटे घडे़ से कहता है कि ‘ तू आधा पानी लाकर मालिक की मेहनत बेकार करता है ‘ इस बात को सुनकर फूटे घडे़ को बहुत दुख होता है। दोनों कि बातें सुनकर श्याम घडो़ से कहता है – तुम सिर्फ अपनी बुराई देख रहे हो लेकिन मैं शुरू से ही उसमे छुपी अच्छाई देख रहा हूँ। इसलिए मुझे तुम में कभी भी कमी नही दिखाई दी तुम्हें ऐसा क्यों लगता है कि तुम मेरे किसी काम के नही हो। जानें – अनजाने में तुमने मेरी बहुत मदद की है। [ Dadi Ma Ki Kahaniya ]

घडा़ बोला पर वो कैसे? तो श्याम ने कहा जब हम हर रोज नदी से वापस आते हैं तो तुम्हारा आधा पानी जमीन पर गिरता है जिससे वह फूलों को मदद मिलती है। तो तुम कैसे कह सकते हो कि तुम मेरे किसी काम के नहीं हो। तो दूसरा घडा़ बोला इसमें तुम्हारी मदद कैसे होती है। तो श्याम बोलता है कि मैं खेती के साथ साथ उन फूलों को भी बाजार में बेचने लगा हूं। जिससे मेरे पास अधिक पैसे आ जाते हैं। उन पैसो से मैं खेत के लिये बीच खरीद लेता हूँ। ये सब फूटे घडे़ की वजह से ही हो पाया है। इसलिये तुम आज से कभी भी अपने आप को कम मत समझना सीख – हमें कभी भी किसी के हुनर का मजाक नहीं बनाना चाहिए , बल्कि उसकी अच्छाई को ढूढकर उसे निखारना चाहिए।

Dadi Ma Ki Kahani – दो आलसी –

गर्मी के दिन थे और दोपहर का समय दो आदमी सुबह सुबह आये और आम के पेड़ के नीचे सो गये। और थोडी धूप उन पर पड़ रही थी फिर भी वे नहीं उठे। वे जहां लेटे थे वहीं पड़े रहे। दोनों के बीच में 1 पका आम टपका। एक ने कहा ” दोस्त ये आम उठाकर मेरे मुंह में डाल दो , देखें तो कैसा है ” तभी दूसरे ने कहा कैसे उठूं कुत्ता मेरा मुंह चाट रहा है, पहले तुम इसे हटा दो । [ Dadi Ma Ki Kahaniya ]

उधर से एक ऊंट वाला जा रहा था। पहले आलसी ने उसे बुलाया ” ओ ऊंट वाले भाई जरा इधर आना ” ऊंट वाला भला था वो आ गया और पूंछा क्या है ?

Dadi Ma Ki Kahaniya —

तभी आलसी आदमी बोला अरे भाई ये आम उठाकर मेरे मुंह में डाल दो। तो ऊंट वाला बोला अच्छा इसके लिये तुमने मुझे इतनी दूर से बुलाया। बगल में पडा आम भी तुमसे नहीं उठाया जाता। बडें आलसी जान पड़ते हो। और आलसी की मदद तो भगवान भी नहीं करता ।

तभी आलसी आदमी बोला तुम कम आलसी हो क्या जो इतनी दूर से आकर इतना छोटा काम भी नहीं कर सकते।

ऊंट वाला बोला जो हाथ पैर नहीं चलाता उसकी मदद भगवान भी नहीं करता।

सीख – हमें ज्यादा आलसी नहीं बनना चाहिये।

तो बच्चों यही थी आज की हमारी बेस्ट Dadi Ma Ki Kahaniya . बच्चों को दादी की कहानीीबहुत पसन्द आती हैं। आप बच्चों कहानियां पढ़ने के लिये प्रोत्साहित करें। वीडियो में कहानी की बजाय आप पढ़ने के लिये कहें। क्योंकि DadiMa Ki Kahani अच्छी होती हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here